प्राचीन समय से इन 6 उपायों से उतारी जाती थी नजर, आज भी हैं फायदेमंद

प्राचीन काल से ही हमारे पूर्वज नज़र लगने जैसी बातों को गंभीरता से लेते हैं. आज के आधुनिक समय में भी बहुत से लोग नजर लगने जैसी चीज पर व‍िश्‍वास करते हैं. नजर लगने या नजर दूर करने को कोई वैज्ञान‍िक आधार नहीं है लेकिन फिर भी लोगों के बीच इसकी मान्‍यता प्राचीनकाल से ही है. आज के दौर में भी घर-घर में नजर उतारकर परेशानियों को दूर करने का प्रयास किया जाता है.

आइए Pujapandit.com में आपको नजर उतारने के वो उपाय बताते हैं जिनका प्रयोग प्राचीनकाल में किया जाता रहा है.

ऐसे उतारें नजर

* शनिवार के दिन हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी की आराधना कर उनके कंधे पर से सिंदूर लाकर नजर लगे हुए व्यक्ति के माथे पर लगाने से बुरी नजर का प्रभाव कम होता है.

* नमक, राई, राल, लहसुन, प्याज के सूखे छिलके व सूखी मिर्च अंगारे पर डालकर उस आग को रोगी के ऊपर सात बार घुमाने से बुरी नजर का दोष मिटता है.

* अगर खाने के समय भी किसी व्यक्ति को नजर लग जाती है तो ऐसे समय इमली की तीन छोटी डालियों को लेकर आग में जलाकर नजर लगे व्यक्ति के माथे पर से सात बार घुमाकर पानी में बुझा देते हैं और उस पानी को रोगी को पिलाने से नजर दोष दूर होता है.

* कई बार ऐसा भी सुनने को मिलता है कि भोजन में नजर लग गई है. इसका उपाय है, तैयार भोजन में से थोड़ा-थोड़ा एक पत्ते पर लेकर उस पर गुलाब छिड़ककर रास्ते में रख दे. फिर बाद में सभी खाना खा लें, नजर उतर जाएगी.

* नजर लगे व्यक्ति को पान में गुलाब की सात पंखुड़ियाँ रखकर खिलाए. नजर लगा हुआ व्यक्ति इष्ट देव का नाम लेकर पान खाए. बुरी नजर का प्रभाव दूर हो जाएगा.

* बात अगर नजर लगने की हो तो ज्‍यादातर बच्‍चों पर ही इसका प्रभाव ज्‍यादा देखने को मिलता है. अगर घर में किसी बच्‍चे को नजर लग गई है तो लाल मिर्च, अजवाइन और पीली सरसों को मिट्‍टी के एक छोटे बर्तन में आग लेकर जलाएं. फिर उसकी धूप नजर लगे बच्चे को दें. किसी प्रकार की नजर हो ठीक हो जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *