ये 7 खास आयुर्वेदिक नुस्खे दिलाएंगे मुंह के भयंकर छालों से निजात

अक्सर देखा गया है कि कुछ भी गर्म या ठंडा खाने, बहुत मसालेदार खाने या फिर पेट खराब होने की स्थिति में मुंह में छाले पड़ जाते हैं। ये छाले बहुत परेशानी का सबब बन जाते हैं और इनकी वजह से कुछ ठीक से खा पाना भी असंभव होता है। आज हम आपको कुछ ऐसे आयुर्वेदिक नुस्खों के बारे में बताएंगे जो आसानी से आपको मुंह के छालों से निजात दिला सकते हैं। चलिए जानते हैं इनके बारे में।

आमतौर पर मुंह में पड़ने वाले छाले मुंह के अंदर गालों की तरफ, जीभ पर और होंठों और दांतों के बाहरी हिस्से पर ही अधिक होते हैं। सफेद और लाल दिखने वाले इन घावों को आपको छीलना या रगड़ना नहीं चाहिए और ना ही बार-बार इन पर जीभ फेहरानी चाहिए। इससे आपको काफी दिक्कत हो सकती है।

मुंह के छालों के कारण कई बार बहुत जलन होती है तो कई बार खून तक आ सकता है। यदि इन छालों का समय पर इलाज ना करवाया जाए तो ये छाले इंफेक्शन का रूप लेते हुए कैंसर तक भी बदल सकते हैं।

ऐसे में मुंह के छालों को ठीक करने के लिए आप मुलैठी को पीस कर उसका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को शहद में मिलाकर छालों वाली जगह पर लगाएं। अगर इस दौरान मुंह से लार टपकती है तो टपकने दें।

कत्था मुंह के छालों के लिए सबसे पारंपरिक इलाज है। लेकिन कत्थे में शहद और मुलेठी मिलाकर लगाएंगे तो जल्द आराम मिलेगा।

मुंह के छालों को जल्दी ठीक करने के लिए जायफल का काढ़ा बनाएं और दिन में दो से तीन बार इससे कुल्ला करें।

यदि छालों में बहुत जलन हो रही है तो ग्लिसरीन में हल्दी़ मिलाकर आधे घंटे के लिए छालों पर लगाएं। इसके बाद गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें। जलन कम होगी।

यदि तुलसी को धोकर इसके पत्ते चबा सकते हैं तो ये छालों में रामबाण का काम करेगा।

दिन में दो बार पानी के साथ यदि 10 से 15 ग्राम इलायची, सौंफ, आंवला और मिश्री का चूर्ण मिलाकर सेवन किया जाए तो छालों में आराम मिलेगा।

छालों को कम करने के लिए चमेली के पत्तों का रस छालों वाली जगह पर लगाएंगे तो आराम मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *