Chardham Yatra 2020: उत्‍तराखंड सरकार ने दी श्रद्धालुओं को सशर्त चारधाम यात्रा की अनुमति

चारधाम यात्रा को लेकर बोर्ड ने नये दिशा-निर्देश जारी किए हैं जिसका यात्रा के लिए पालन किया जाना आवश्‍यक होगा.

Kedarnath Temple

Chardham yatra 2020: बाबा केदारनाथ मंदिर की तस्‍वीर

Chardham yatra 2020 के लिए उत्‍तराखंड सरकार कुछ शर्तों के साथ अन्य राज्यों के श्रद्धालुओं को चारधाम यात्रा की अनुमति दे दी है. इसके लिए सरकार ने एक नये दिशा-निर्देश की घोषणा की है. संबंतिध गाइडलाइन और ई-पास की जानकारी चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं. चारधाम देवस्थानम बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा को लेकर बोर्ड ने नये दिशा-निर्देश जारी किए हैं जिसका यात्रा के लिए पालन किया जाना आवश्‍यक होगा.

नई जारी दिशा-निर्देश के अनुसार श्रद्धालुओं को चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर आवेदन के बाद ई-पास जारी किए जाएंगे. दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को 72 घंटे के भीतर कराई गई कोरोना जांच निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी उसके बाद ही प्रदेश में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. कोरोना जांच की रिपोर्ट आइसीएमआर की ओर से अधिकृत लैब से ही होनी चाहिए. रिपोर्ट ई-पास के आवेदन के दौरान अपलोड करनी होगी. इसके बाद ही यात्रा के लिए पास जारी किए जाएंगे.

72 घंटे के भीतर कोरोना जांच न कराने वाले यात्री को गाइडलाइन के अनुरूप क्वारंटाइन होना होगा. उत्तराखंड में प्रवेश के बाद वह यहां निर्धारित अवधि तक संस्थागत, होम, पेड होटल-गेस्ट हाउस में क्वारंटाइन रहेंगे. क्वारंटाइन अवधि पूर्ण करने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर ही उन्हें प्रदेश में चारधाम यात्रा की अनुमति होगी. यात्रा के दौरान पहचान संबंधी वास्तविक प्रमाण पत्र भी यात्री को साथ रखने होंगे. यह सभी शर्तें उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के अतिरिक्त हैं, जो अग्रिम आदेशों तक प्रभावी रहेंगे.

Chardham Yatra 2020 e-pass
Chardham Yatra 2020: चारधाम यात्रा के लिए ई-पास की जरूरत होगी. इसके लिए दिशा-निर्देश जारी कर दी गई है.

ज्ञात हो कि अभी तक केवल राज्‍य के निवासियों को ही चारधाम यात्रा की अनुमति दी गई थी. धार्मिक स्थलों को खोलने की छूट मिलने के बाद प्रदेश सरकार ने चारधाम यात्रा के संबंध में निर्णय लेने का दायित्‍व उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड को सौंप दिया था. पहले चरण में बोर्ड ने रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी जिले के निवासियों को अपने-अपने धामों में दर्शन की इजाजत दी. इसके बाद एक जुलाई से राज्‍य के निवासियों को पंजीकरण के जरिये चारधाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की यात्रा इजाजत दे दी गई. इसमें कोरोना से बचाव के को ध्‍यान में रखते हुए आवश्यक शारीरिक दूरी, मास्क आदि का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया जो अब भी जारी रहेगा.

चारधाम यात्रा के लिए ई-पास देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर आवेदन कर प्राप्‍त किए जा सकते हैं. चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट https://badrinath-kedarnath.gov.in/ है. श्रद्धालुओं को इस साइट पर अपनी पूर्ण जानकारी देने के साथ ही 72 घंटे के भीतर कराई गई कोरोना जांच की रिपोर्ट अपलोड करनी होगी. इसके अलावा पहचान पत्र भी उपलब्ध कराना होगा. अगर अनुमति मिलती है तो वेबसाइट से ही ई-पास डाउनलोड किया जा सकेगा. उसके बाद वो चारधाम की यात्रा कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *