शुक्र ग्रह की दशा कर रही स्वास्थ्य हानि? आज से ही शुरु करें ये योगासन

शुक्र ग्रह बहुत शांत प्रकार का ग्रह होता है परंतु यदि किसी की राशि पर इसकी को दृष्टि पड़ जाए तो वह शारीरिक व मानसिक रूप से पीड़ित हो जाता है.

PM Modi on Yoga Day

योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

शुक्र ग्रह को आसानी से आसमान में देखा जा सकता है जबकि किसी और ग्रह को आसमान में नग्न आंखों से नहीं देखा जा सकता है. ऐसा बताया जाता है कि शुक्र ग्रह एक तारे के रूप में होता है इसलिए आसमान का सबसे तेज चमकने वाला तारा शुक्र ग्रह होता है.

यदि शास्त्रों की माने तो शुक्र ग्रह बहुत शांत प्रकार का ग्रह होता है परंतु यदि किसी की राशि पर इसकी को दृष्टि पड़ जाए तो वह शारीरिक व मानसिक रूप से पीड़ित हो जाता है. आज हम आपको शुक्र के प्रभाव से होने वाली बीमारियों के बारे में बताएंगे और योगासन के जरिए आप उन से कैसे निजात पा सकते हैं वह उपाय भी हम आपको अपनी इस पोस्ट के जरिए बताएंगे.

योगासन करते Jesús Bonilla “Tanumanasi”

ऐसा बताया जाता है कि मनुष्य का पूरा शरीर ग्रहों की चाल पर निर्भर करता है इसी प्रकार शरीर में उपस्थित गाल, ठुड्डी और नसों का सीधा संबंध शुक्र ग्रह से माना जाता है. इसका असर अंगूठे पर भी पड़ता है अंगूठा दर्द रहने लगता है और बिना किसी वजह से ही अंगूठा खराब हो जाता है यह शुक्र ग्रह की कु दृष्टि के कारण से होता है.

इसके प्रभाव से शरीर की हड्डियों में दर्द करने लगती है. शुक्र ग्रह के कारण शरीर के आंतरिक भाग में मौजूद आंतों में रोग हो जाता है और गुर्दे का दर्द शुरू हो जाता है. इसके अलावा मनुष्य के पांव में भी तकलीफ रहने लगती है.

शुक्र ग्रह के प्रभाव को दूर करने के लिए योगासन

शुक्र ग्रह के प्रभाव से होने वाली परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए आप निम्नलिखित आसन बताये गए तरीके से कर सकते हैं.

अनुलोम विलोम:-

इस आसन में आपको आराम अवस्था में बैठना होता है उसके बाद एक नाग दबाकर श्वास अंदर लेकर दूसरी नाक से स्वास बाहर छोड़ने होती है. इस आसन से आपके जुकाम को दूर करने में सहायता मिलती है और आपके फेफड़े भी जल्द ही स्वस्थ हो जाते हैं.

भ्रामरी योगासन:-

यह आसन हमारे मन को शांत करने का काम करता है और साथ ही शरीर के कई रोगों को दूर भी करता है. खुली हवा में शांत मन से कहीं पर बैठ जाएं और अपनी तर्जनी उंगली दोनों कानों में डालकर धीरे-धीरे भिन्नभिनाने की आवाज निकाले. यदि इसे नियमित रूप से आप करते हैं तो जल्द ही अपने नाक कान साफ कर सकते हैं और अपने क्रोध से सदैव के लिए छुटकारा पा सकते हैं.

भस्त्रिका आसन:-

आराम अवस्था में बैठकर दोनों हाथ घुटनों पर रखें और नाक से आवाज करते हुए श्वास अंदर लें और आवाज करते हुए ही बाहर छोड़ दे. यह आसन आपके शरीर की कई सारी बीमारियां आप की ध्वनि और श्वास के जरिए बाहर निकाल देता है.

4 thoughts on “शुक्र ग्रह की दशा कर रही स्वास्थ्य हानि? आज से ही शुरु करें ये योगासन

    1. Thank you Jesús Bonilla “Tanumanasi” for your comments. I used that image as it was copyright free. You have given your consent on https://commons.wikimedia.org as
      “This work has been released into the public domain by its author, I, Tanumanasi. This applies worldwide.
      In some countries this may not be legally possible; if so:
      I, Tanumanasi grants anyone the right to use this work for any purpose, without any conditions, unless such conditions are required by law.”
      URL: https://commons.wikimedia.org/wiki/File:Tanum%C3%A2nas%C3%AE_kapalabhati.JPG

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *